Mutual Fund Kya Hai, Mutual fund in hindi
पैसा और व्यापार

Mutual Fund Kya Hai|जानें इसके प्रकार और फायदे

Mutual Fund Kya Hai: Mutual Fund Sahi Hai इस वाक्य को आपने कई TV Advertisements में सुना होगा। यह सही भी है, क्योंकि mutual fund आपको किसी भी अन्य निवेश विकल्प की तुलना में बेहतर रिटर्न दे सकता है। इसके अलावा, Mutual Fund में आप मात्र 500 प्रतिमाह की SIP कर निवेश की शुरुआत कर सकते हैं, और किसी भी Fixed Deposits या Recurring Deposits से बेहतर रिटर्न पा सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, की आखिर Mutual Fund Kya Hai? आइए जानते हैं।

Mutual Fund Kya Hai | What Is Mutual Fund In Hindi

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) एक पेशेवर-प्रबंधित ट्रस्ट (Professional Management Trus) है, जहां कई निवेशकों से पैसे जमा कर इस बचत को सामूहिक रूप से निवेश किया जाता है। इस बचत को बाजार में उपलब्ध विभिन्न निवेश विकल्प जैसे स्टॉक (Stocks), बॉन्ड (Bonds), फॉरेक्स (Forex), कमॉडिटी (Commodity) इत्यादि में निवेश किया जाता है।

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेशकों का एक सामान्य वित्तीय लक्ष्य होता है। इसके आधार पर, फंड के निवेश उद्देश्य के अनुसार, उनके धन को विभिन्न निवेश विकल्पों में निवेश किया जाता है। क्योंकि फंड एक ही मार्केट में निवेश ना होकर कई वर्गों में बटें हुए हैं, इसलिए म्यूचुअल फंड में पैसा ज्यादा सुरक्षित माना जाता है।

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपको जो राशि चाहिए वह अन्य साधनों की तुलना में कम है। म्यूचुअल फंड मात्र 500 रूपए की न्यूनतम राशी के साथ अपना निवेश कर सकते हैं। इतनी कम वित्तीय निवेश होने पर भी आपको यहां अनुभवी वित्त पेशेवरों को अपने पैसे का प्रबंधन करने का लाभ मिलता है।

म्यूचुअल फंड उन निवेशकों के लिए एक बढ़िया विकल्प हैं जिनके पास पारंपरिक और आमतौर पर जटिल निवेश निर्णय लेने के लिए समय या ज्ञान की कमी है। इस तरह वे उच्च शुल्क का भुगतान किए बिना अपनी बचत को निष्क्रिय रूप से प्रबंधित कर सकते हैं। लेकिन इसका मतलब यह भी है कि अपने पैसे को म्यूचुअल फंड में रखकर, आप पोर्टफोलियो मैनेजर (Portfolio Manager) को आपके लिए उन आवश्यक निर्णयों को करने की अनुमति देते हैं।

Mutual Fund कैसे काम करता है | Mutual Fund In Hindi

म्यूचुअल फंड एक पेशेवर रूप से प्रबंधित ट्रस्ट है जो विभिन्न व्यक्तियों से Shares, Future, Options, Forex market और Bonds और Commodity में निवेश करने के लिए पैसे का संकलन (Pool) करता है। म्यूचुअल फंड का प्रबंधन पेशेवर फंड प्रबंधकों (Professional Fund Managers) द्वारा किया जाता है, जो पूरी तरह से बाजार अध्ययन और समझ के आधार पर सिक्योरिटीज (Securities) को खरीदते और बेचते हैं।

म्यूचुअल फंड द्वारा शुरू की गई प्रत्येक योजना में निवेश का एक उद्देश्य शामिल होता है: जैसे कि, लंबी अवधि के लिए पैसे को निवेश कर बढ़ाना, या फिर नियमित मासिक तौर पर कुछ पैसों को निवेश करना, या स्थिर रिटर्न इत्यादि। इस प्रकार, निधियों को निर्धारित उद्देश्य, जोखिम प्रोफ़ाइल और समय सीमा के अनुसार निवेश किया जाता है। उदाहरण के लिए, एक इक्विटी फंड (Equity Fund) लंबी अवधि के पूंजी विकास के लिए शेयरों में निवेश करेगा, जबकि एक डेट म्यूचुअल फंड (Debt Mutual Fund) स्थिर रिटर्न या कम अस्थिर रिटर्न देने के उद्देश्य से सरकारी प्रतिभूतियों (Government Securities) और कॉर्पोरेट बॉन्ड (Corporate Bonds) में निवेश करेगा।

भारत में, म्यूचुअल फंड एक ट्रस्ट के रूप में स्थापित किया गया है, जिसके पास SEBI (Mutual Fund) Act, 1996 के तहत एक प्रायोजक, ट्रस्टी, Asset Management Company (AMC) है। Asset Management Company (AMC) म्यूचुअल फंड के निवेश और अन्य दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के प्रबंधन के लिए नियुक्त की गई है।

Mutual Fund के कितने प्रकार हैं | Types Of Mutual Fund In Hindi

Mutual Funds के कई प्रकार हैं, लेकिन मुख्यतः इन्हें 7 प्रकारों में बाटा गया है, जो इस प्रकार हैं ;

Assets Class के हिसाब से Mutual Fund के तीन प्रकार होते हैं-

  • Equity mutual fund
  • Debt mutual fund
  • Hybrid mutual fund

Structure के हिसाब से Mutual Fund के 2 प्रकार होते हैं-

  • Open-Ended Fund
  • Closed-Ended Fund

Fund manage करने के हिसाब से Mutual Fund के 2 प्रकार होते हैं-

  • Actively Managed Fund
  • Passively Managed Fund

आइए अब जानते हैं की तरह तरह के इन Mutual Funds की विशेषता क्या है।

1. Equity Mutual Fund

जैसा कि इसका नाम बताता है, इस फंड का सारा पैसा Equity या Share Market में इन्वेस्ट किया जाता है। इस Mutual Fund के भी कई उप-प्रकार होते हैं। जैसे कि;

  • Small Cap Fund
  • Mid Cap Fund
  • Large Cap Fund
  • Diversify Equity Fund
  • Dividend Yield Scheme
  • Sector Fund
  • ELSS(Equity Linked Saving Scheme)
  • Thematic Fund

Share Market में उब्लब्ध कंपनियों में Market Capital के आधार पर भिन्न Segments में की जाने वाली Investments के आधार पर इन्हें यह उपनाम दिए गए हैं।

क्योंकी Equity Mutual Fund का पैसा Equity Market में इन्वेस्ट किया जाता है, इसलिए यह High Risk और High Return होता है।

2. Debt Instrumental Fund

इस Mutual Fund Scheme के अंतर्गत जमा किया गया सारा पैसा Debt Instruments जैसे कि; Government Bonds, Debentures, Certificate of Deposit इत्यादि में इन्वेस्ट किया जाता है।

इस Debt instrument fund के भी Investment Option Base पर चार Sub-types होते हैं-

  • Fixed Maturity Plans
  • Liquid Scheme
  • Gilt Fund
  • Junk Bond Scheme

क्योंकी Debt instrument fund का पैसा Government Schemes में इन्वेस्ट किया जाता है, इसलिए यह Low Risk और Low Return होता है।

3. Hybrid fund

Hybrid fund अपने नाम के अनुसार एक Medium Risk Investment Scheme है। इसमें फंड का पैसा 50% Equity में तो बाकी का 50% Debt में Invest किया जाता है।

Equity और Debt में होने वाले Fund Allocation के आधार पर इस फंड के भी तीन और Sub-types हैं;

  • MIP-Monthly Income Plan
  • Balanced Fund
  • Arbitrage Fund

क्योंकी Hybrid fund का पैसा Debt और Equity में बंटा हुआ है इसलिए यह Medium Risk और Medium Return होता है।

4. Open ended fund

Open Ended Fund अपने नाम अनुसार हमेशा Open होता है। आप इसे कभी भी Buy या Sell कर सकते हैं। इसके अलावा आप इसके कितने भी Units Buy कर सकते हैं। भारत में ज्यादातर Mutual Fund Schemes Open Ended ही होते हैं।

5. Close ended fund

Close Ended Fund इस तरह का फंड होता है जिसे आप सर वक्त Buy या Sell नहीं कर सकते। यह फंड एक निर्धारित समय पर अपने NFO-New Fund Offer लाते हैं, तब ही आप इस फंड में Invest कर सकते हैं। इसके अलावा इस फंड को आप कभी भी बेच नहीं सकते। इसे बेचने के लिए आपको फंड की Maturity का इंतजार करना पड़ता है। यही कारण है कि इस फंड की liquidity बहुत कम होती है इसलिए आपको इस फंड के buyers & sellers मुश्किल से मिलेंगे।

6. Actively Managed Fund

Actively Managed Fund में Investment से जुड़े सारे फैसले Fund Manager लेता है। जैसे कि, किस Stocks में Invest करें, किस Portion में इन्वेस्ट करें इत्यादि। क्योंकि इस Scheme में फंड मैनेजर का रोल बेहद Active होता है, इसी कारण से इस फंड को Actively Managed Fund कहा जाता है।

7. Passively Managed Fund

Passively Managed Fund में फंड पूरी तरह से Fund Manager द्वारा मैनेज नहीं किया जाता है। यह फंड किसी Stocks या Bonds में Invest न करते हुए Nifty या Sensex जैसे Index में इन्वेस्ट किया जाता है। इस फंड का Return पूरी तरह से Index Return पर निर्भर करता है।

इसके अलावा भी Mutual Fund में कई छोटे बड़े प्रकार के फंड्स होते हैं, जैसे;

  • Exchange Trader Fund
  • Real estate Fund
  • International Fund
  • Gold Fund

Mutual Fund Ke Fayde Kya Hain | Mutual Fund In Hindi

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के कई फायदे हैं जैसे:

Professional Management | पेशेवर प्रबंधन

जब आप म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो आप यह चिंता करना छोड़ सकते हैं कि कहां और कैसे निवेश किया जाए। यह काम आपके लिए आपके फंड मैनेजर (Fund Managers) करते हैं। वह मार्केट रिसर्च, मॉनिटरिंग और अनुभव के आधार पर सही फैसला लेने में सक्षम होते हैं।

Diversity | विविधता

म्यूचुअल फंड के द्वारा आपके पैसे शेयर,प्रॉपर्टी, बॉन्ड, कमोडिटी जैसे कई निवेश वर्गों में निवेश किए जाते हैं। इस कारण यह Investment Diversity आपको किसी विशेष स्टॉक या सेक्टर में निवेश के जोखिम को कम करने में मदत करती है।

Liquidity |लिक्विडिटी

इसका अर्थ यह है कि एक पूर्व-निर्धारित लॉक-इन अवधि (Lock In Period) द्वारा आप आपके पैसों को कभी भी मार्केट से निकाल सकते हैं। इसके अलावा यह फंड्स बैंकिंग प्रणाली के साथ अच्छी तरह से लिंक होते हैं – जिसका अर्थ है कि अधिकांश फंड सीधे आपके बैंक खाते में पैसा स्थानांतरित कर सकते हैं। सरल शब्दों में कहें तो आप घर बैठे मोबाइल द्वारा कुछ मिनटों में Mutual Fund में पैसा डाल या निकाल सकते हैं।

Famous Mutual Funds In India |भारत के कुछ प्रसिध्द Mutual Fund

भारत में धीरे धीरे लोगों के अंदर Financial Literacy बढ़ रही है। यही कारण है कि लोगो का Mutual Fund को लेकर रुझान काफी बढ़ रहा है। इस रुझान को देख देश के लगभग सभी बड़े Financial Institute इस बिज़नेस में उतर चुके हैं। उनमें से भारत के कुछ प्रसिध्द Mutual Fund इस प्रकार हैं;

  • SBI Mutual fund
  • UTI Mutual fund
  • Motilal Oswal
  • ICICI Prudential mutual fund
  • HDFC Mutual fund
  • Reliance mutual funds
  • Aditya Birla sun life mutual fund
  • Kotak Mahindra Fund
  • Franklin Templeton Mutual Fund

इस लेख में हमने समझा कि Mutual Fund Kya Hai? आज का युग डिजिटल युग है, और भारत भी Digital India के माध्यम पूर्णतः डिजिटल बनने की और अग्रसर हो चुका है। आज घर बैठे पैसे कमाने से लेकर उन पैसों को सही जगह निवेश कर बढ़ाने तक सारे काम सिर्फ मोबाइल की कुछ क्लिक्स के द्वारा हो सकते हैं। बस जरुरत है तो सही जानकारी की जो की आप तक पहुंचाने का जिम्मा हमारा है।

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *